हिमांशु ने बचाई शामली, बजरंगदल कार्यकर्ताओं और पुलिस पर हमला करने वालों पर मुकदमा दर्ज

0 2,194

जनपद में एक दूसरे से पहले मोमोस खाने को लेकर बजरंगदल कार्यकर्ताओं और वर्ग विशेष के युवकों के बीच हुई कहासुनी ने बड़े फसाद का रूप ले लिया था। उन्मादी भीड़ ने युवकों की पिटाई करते हुए पुलिस पर भी हमला बोल दिया था। इस पूरे मामले में  बजरंग दल के प्रचार विभाग प्रमुख हिमांशु शर्मा की सूझबूझ और बहादुरी की प्रशंसा चारों तरफ की जा रही है।

शामली: जिला मुख्यालय के बड़ा बाजार में गुरूवार की शाम मोमोस खाने को दो पक्षों में कहासुनी हो गई। इसके बाद एक पक्ष की ओर से आई भीड़ ने दूसरे पक्ष के दो युवकों को दौड़ा—दौड़ाकर पीटा। सूचना पर पहुंची पुलिस पर भी हमला किया गया। वारदात में आरोपियों के खिलाफ पुलिस और घायलों की ओर से दो अलग—अलग मुकदमें लिखे गए हैं, लेकिन इस पूरे मामले में घायल हुए बजरंग दल के प्रचार विभाग प्रमुख हिमांशु शर्मा की बहादुरी और सूझबूझ की चारों तरफ तारीफ हो रही है। हिमांशु ने भीड़ को तब तक उलझाए रखा, जब तक पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालातों को कंट्रोल में नही ले लिया, नही तो भीड़ में शामिल आरोपी जोश में होश खोकर कुछ भी करने के लिए तैयार थे। यदि वें अपने मंसूबों में कामयाब हो जाते, तो आज शामली दंगे की आग में झुलस रही होती।

  • मामूली कहासुनी से शुरू हुआ फसाद – शामली के बड़ा बाजार के अयुध्या चौक पर हर्ष सिंघल, नमन, रजनीश चौबे मोमोस खाने के लिए ठेले पर खड़े हुए थे।
     
  • मोहल्ला बरखंडी निवासी तौफीक, आबिद, शाजीद भी मौके पर पहुंचे। एक दूसरे से पहले मोमोस लेने को लेकर दोनों पक्षों की कहासुनी हो गई।
  •  कहासुनी के बाद तौफीक पक्ष की ओर से करीब 50 लोगों की भीड़ मौके पर पहुंच गई।
  •  भीड़ के आक्रोश को भांपते हुए बजरंग दल के प्रचार विभाग प्रमुख हिमांशु शर्मा ने सूझबूझ और बहादुरी का परिचय देते हुए पहले तो युवकों को भीड़ के चंगुल से छुड़वाया। इसके बाद वें स्वयं तब तक भीड़ का सामना करते रहे, जब तक पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालातों को अपने कंट्रोल में नही ले लिया। हालांकि भीड़ के हमले में वह खुद भी गंभीर रूप से घायल हो गए।
  •  झगड़े की सूचना पर पुलिस की चीता मोबाइल भी मौके पर पहुंचे, लेकिन भीड़ ने पुलिस पर हमला करते हुए आरोपी तौफीक को उनके चंगुल से छुड़ा लिया।
  •  घायल पक्ष की ओर से 10 लोगों को नामजद करते हुए 50 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।
  •  चीता मोबाइल पर तैनात पुलिस कांस्टेबल सुधीर गिरि की ओर से भी पुलिस कार्रवाई में बांधा पहुंचाने, हमला करने और वर्दी फाड़ने के आरोप में तीन लोगों को नामजद करते हुए 40—50 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
  • भीड़ के हमले में घायल हर्ष सिंघल का गंभीर हालत में दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में उपचार चल रहा है।
    Attachments area

    Preview YouTube video हिमांशु ने बचाई शामली

Leave A Reply

Your email address will not be published.