भारतीय कप्तान विराट कोहली पर लगा पानी की बर्बादी के लिये 500 रुपये का जुर्माना

0 381

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Fined) पर उनके गुरूग्राम स्थित निवास में पीने के पानी की बर्बादी के आरोप में गुरूग्राम नगर निगम ने 500 रूपये का जुर्माना लगाया है। इंग्लैंड में चल रहे आईसीसी विश्वकप में भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी कर रहे विराट का निवास स्थान गुरूग्राम है। गुरूग्राम नगर निगम के अधिकारी ने बताया कि, डीएलएफ फेज-1 में विराट के निवास पर उनके एक कर्मचारी को पीने के पानी से गाड़ी धोते हुये देखा गया था।

बताया जा रहा है कि, विराट के पड़ोसियों ने ही क्रिकेटर के घरेलू नौकरों द्वारा पीने के पानी की बड़ी मात्रा में बर्बादी की शिकायत की थी जिसके बाद यह कार्रवाई की गयी है। विराट की गाड़ियों की सफाई के लिये पानी का उपयोग किया जाता था। उल्लेखनीय है कि, देशभर में पड़ रही भीषण गर्मी के कारण लगभग हर राज्य खासकर उत्तर भारत में पीने के पानी की समस्या हो गयी है। इस बीच खबर है कि, एमसीजी ने इसी मामले में कई और घरों का चालान किया है।

आईपीएल में इन खिलाड़ियों पर भी लग चुका हैं जुर्माना

मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा से पहले किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन  मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा, रॉयल चैलेंजर्स के कप्तान विराट कोहली और राजस्थान रॉयल्स के पूर्व कप्तान अजिंक्य रहाणे ने स्लो ओवर-रेट के नियम का उल्लंघन किया था। इससे इन तीनों पर भी 12-12 लाख रुपए का जुर्माना लग चुका है।

 MS धोनी पर भी लग चुका है जुर्माना

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर मैदान में उतर कर अंपायर से बहस करने के लिए मैच फीस का 50% जुर्माना लगाया गया था। दरअसल, राजस्थान के खिलाफ चेन्नई की बल्लेबाजी के दौरान 19वें ओवर में एक मौका ऐसा था, जब स्टोक्स की गेंद पर अंपायर ने नो बॉल देने के बाद अपना फैसला बदल लिया था। इस पर MS धोनी आउट होने के बावजूद गुस्से में मैदान में उतर आए और अंपायर से बहस करने लगे। हालांकि, फैसला नहीं बदलने पर वह गुस्से में ही लौटे।

रोहित शर्मा पर मैच फीस का 15 प्रतिशत लग चुका है जुर्माना

मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा  पर भी कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ ईडन गार्डन में खेले गये मुकाबले में आचार संहिता के उल्लंघन के लिये मैच फीस का 15 फीसदी जुर्माना लगा चूका है। रोहित को चौथे ओवर में पगबाधा आउट दिया गया था, जिससे नाराज़ होकर उन्होंने स्टम्प्स तोड़ दिया था। उन्हें मैदान पर खेल भावना के विपरीत व्यवहार करने के लिये इंडियन प्रीमियर लीग की आचार संहिता नियम 2.2 के तहत लेवल-1 का दोषी ठहराया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.