Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार

0 381

बॉलीवुड में ‘डिस्को डांसर’ बनकर हिंदी सिनेमा में अपनी एक अलग छाप छोड़ने वाले मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) का आज जन्मदिन है। उन्होंने अपने फिल्मी करियर में 350 फिल्में की, जो हिंदी, बंगाली, उड़ीसा, तेलुगु, पंजाबी और भोजपुरी भाषा की है। 80 के दशक में मिथुन चक्रवर्ती उन निर्माताओं की पहली पसंद बन गये जो कम बजट की पारिवारिक फिल्म बनाते थे। सर्वश्रेठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल करने के लिए कलाकारों को जहां कई वर्षों का समय लग जाता है, वहीं मिथुन चक्रवर्ती उन चंद अभिनेताओं में शामिल हैं, जिन्हें अपनी पहली ही फिल्म के लिए यह पुरस्कार हासिल हुआ था

मिथुन चक्रवर्ती का परिचय:

जन्म : 16 June 1950
जन्म स्थान : कलकत्ता, पश्चिम बंगाल
पिता का नाम:  बसंत कुमार चक्रवर्ती
माता का नाम :  संतिरानी चक्रवर्ती
व्यवसाय : अभिनेता, पॉलिटिशियन
लाइफ पार्टनर :  योगिता बाली
बच्चे : 4

जन्म और शिक्षा:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) मिथुन चक्रवर्ती का जन्म 16 जून, 1950 को हैदराबाद में हुआ था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा कलकत्ता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज से की। उन्होंने रसायन विज्ञान में BSC स्नातक की डिग्री हासिल की। इसके बाद वे भारतीय फिल्म और टेलीविजन संस्थान, पुणे से जुड़े और वहीं से अपना ग्रेजुएशन कंपलीट किया। उनके पिता का नाम बसंत कुमार चक्रवर्ती और उनकी माता का नाम संतिरानी चक्रवर्ती है। उनके फैंस उन्हें प्यार से मिथुन दा और दादा के नाम से पुकारते हैं।

फिल्मी करियर की शुरुआत:  

मिथुन चक्रवर्ती ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत साल 1976 में ‘मृगया’ फिल्म से की थी। इसके बाद साल 1991 में ‘अग्निपथ’ और 1996 ‘जल्लाद’ में उनके अभिनय के दो विभिन्न रंग दिखाई दिए। इसके बाद वे मसलन, ‘दो अनजाने’ तथा ‘फूल खिले हैं गुलशन-गुलशन’ में सहयोगी किरदार ने नजर आये। मिथुन ने ‘गोलमाल-3′ (2010), ‘किक’ (2014) सहित कई बड़ी फिल्मों में काम किया है।

‘डिस्को डांसर’ से मिली पहचान:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) मिथुन चक्रवर्ती की किस्मत का सितारा वर्ष 1982 में प्रदर्शित फिल्म ‘डिस्को डांसर’ से चमका। नाच गाने से भरपूर इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती डिस्को डांसर की भूमिका में दिखाई दिये। बेहतरीन गीत-संगीत और अभिनय से सजी बी सुभाष निर्देशित इस फिल्म की जबर्दस्त कामयाबी ने अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती को स्टार के रूप में स्थापित कर दिया। फिल्म ‘डिस्को डांसर’ की सफलता के बाद मिथुन चक्रवर्ती की छवि एक डांसिग स्टार के रूप में बन गयी।

इन फिल्मों के लिए डब की आवाज:

मिथुन ने फिल्म ‘आजा नचले’ (2007) में दर्शन जरीवाला की आवाज डब की थी। वहीं फिल्म ‘लड़ाई’(1989) में एक बूढ़े आदमी की आवाज की डबिंग के लिए मिथुन ने अपने गले में स्कार्फ बांध के आवाज निकाली थी, जिससे की सही आवाज डब हो सके।

फिल्मों में आने से पहले नक्सलवादी थे मिथुन:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) फिल्मों में आने से पहले मिथुन चक्रवर्ती एक खूंखार नक्सलवादी थे, लेकिन मिथुन के बड़े भाई की मौत शॉर्ट सर्किट की वजह से हो गई थी। भाई की मौत ने उनके परिवार को झकझोर के रख दिया। अपने परिवार की इस स्थिति को देखने के बाद उन्होंने नक्सलवाद का रास्ता छोड़ दिया। वे मार्शल आर्टस में ब्लैक बेल्ट भी हैं, यही कारण है कि वे फिल्मों के एक्शन सीन में वे अपना सर्वश्रेष्ठ दे पाते हैं। मिथुन चक्रवर्ती का असली नाम गौरांग चक्रवर्ती है।

अफेयर:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) फिल्मों में आने के बाद मिथुन का नाम को-स्टार रंजीता, योगिता बाली, सारिका और कई हीरोइनों के साथ जुड़ा, लेकिन श्रीदेवी के साथ उनका रिलेशन एक अलग ही लेवल पर पहुंच गया था। मिथुन और श्रीदेवी ‘जाग उठा इंसान’ में साथ काम कर रहे थे और इसी बीच दोनों एक-दूसरे के नजदीक आ गए। श्रीदेवी और मिथुन का रिश्ता तीन साल ही चल पाया।

शादी:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) मिथुन चक्रवर्ती की शादी योगिता बाली से हुई थी जिनसे उनके 4 बच्चें है, जिनमें तीन बेटे महाक्षय चक्रवर्ती, उश्मेय चक्रवर्ती, नमाशी चक्रवर्ती, और एक बेटी दिशानी चक्रवर्ती है।

नब्बे के दशक के आखिरी वर्षों में किया फिल्म इंडस्ट्री से किनारा:

अस्सी के दशक में मिथुन चक्रवर्ती उन निर्माताओं की पहली पसंद बन गए, जो कम बजट की पारिवारिक फिल्म बनाते थे। इस दौर में वह फिल्म निर्माताओं के लिए गरीबों का अमिताभ बनकर उभरे और कई सफल फिल्मों में काम करके दर्शकों का मनोरंजन करने में सफल रहे। नब्बे के दशक के आखिरी वर्षों में उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री से कुछ हद तक किनारा कर लिया और ऊटी चले गए। जहां वह होटल व्यवसाय करने लगे हालांकि इस दौर में भी उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री से अपना नाता नहीं तोड़ा और फिल्में कर दर्शकों का मन मोहते रहे।

टीवी करियर:

Birthday Special: पहली ही फिल्म के लिए मिथुन ने जीता था राष्ट्रीय पुरस्कार (Mithun Chakraborty) मिथुन चक्रवर्ती टीवी का डांस रियलिटी शो ‘डांस इंडिया डांस’ और ‘डांस बांग्ला डांस’ जैसे ज़ी टीवी के डांस शो में ग्रैंड जज की भूमिका में नजर आ चुके हैं।

फिल्मों के अलावा और भी काम:

फिल्मों के अलावा मिथुन चक्रवर्ती ने गायक, निर्माता, लेखक सामाजिक कार्यकर्ता और बिजनेसमैन के तौर पर भी अपनी पहचान बनाई है। इसके अलावा वे कई बड़ी कंपनियों के ब्रांड एंबेसडर रह चुके हैं। साथ ही उन्हें 7 फरवरी 2014 में तृणमूल कांग्रेस की ओर से राज्यसभा सांसद बनाया गया।

पुरस्कार और सम्मान:

मिथुन का सफल फिल्मी केरियर उनको प्राप्त अवार्ड्स और पुरस्कारों से साफ झलकता है। मिथुन अब तक दो बार फिल्म फेयर पुरस्कार और तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.