शख्शियत: अनुपमा जायसवाल (बेसिक शिक्षा एवं बाल विकास पुष्टाहार राज्य मंत्री)

1 2,645
हिंद टुड़े से पंकज वालिया की विशेष रिपोर्ट—

शख्शियत

”मेरे पांव खरीदने आई है भीड़ बाहर…
मेरा हौंसला छालों पर भारी जो पड़ा था..”

कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिनकी शख्शियत समाज के लिए प्रतिबिंब की तरह होती है। यें लोग अपने दम पर आगे बढ़ते हैं। समाज को आईना दिखाते हुए आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। यह भी सच है कि अगर ऐसे लोग किन्हीं कारणों से राजनीति में आ जाएं, तो वें खुद के दम पर समाज की दशा और दिशा बदलने का काम करते हैं। कुछ ऐसा ही योगी सरकार की मंत्री अनुपमा जायसवाल भी करती नजर आ रही हैं। वें प्रदेश में प्राईमरी शिक्षा की दशा तो सुधार ही रही हैं, इसके साथ—साथ सरकारी मशीनरी में फैली गंदगी भी उनका नाम लेने मात्र से सीधी हो पड़ती है। भ्रष्टाचार और समाज को दूषित करने वाले लोगों के खिलाफ सजग कार्यशैली ही उनकी पहचान बन गई है। यह जनता का सौभाग्य ही कहा जाएगा कि योगी सरकार की इस प्रतिभावान मंत्री को शामली जनपद का प्रभारी मंत्री बनाया गया है…

प्रोफाइल
नाम: अनुपमा जायसवाल
जन्म: 3 फरवरी 1967, बहराइच, उत्तर प्रदेश
प्रोफेशन: सामाजिक कार्यकर्ता, राजनीतिक
शिक्षा: एमए अंग्रेजी 1999, एलएलबी 2010

 

  • वकार शाह को हराने के बाद छाई थी अनुपमा

    अनुपमा जायसवाल सामाजिक क्षेत्र में जनता की सेवा करते हुए राजनीति में आई। उन्होंने भाजपा प्रारंभिक स्तर से आगे बढ़ने का कार्य किया। पार्टी ने भी उनकी मेहनत पर भरोसा जताते हुए उन्हें आगे बढ़ाया। इसके बाद वें भाजपा के टिकट पर बहराईच विधानसभा से चुनाव लड़ी। इस चुनाव में उन्होंने सात बार चुनाव जीतने वाले सपा के दिग्गज नेता वकार शाह को पटखनी देते हुए राजनीति के इतिहास में अपना नाम दर्ज कराया।

  • 1.60 लाख बेसिक सरकारी स्कूलों की बदली सूरत

    उत्तर प्रदेश सरकार की बेसिक शिक्षा एवं बाल विकास पुष्टाहार राज्यमंत्री ने हिंद टुड़े को बताया कि प्रदेश के अब 1.60 लाख सरकारी प्राथमिक स्कूलों में परिवर्तन दिखने लगा है। अब इन स्कूलों में टाइम टेबल के हिसाब से पढ़ाई हो रही है। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद लोगों में नए उत्साह का संचार हुआ है। सरकार शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए विशेष प्रयासरत है। ऐसे में उत्तर प्रदेश अब उत्तम प्रदेश बनने की ओर आगे बढ़ रहा है।

  • शामली की जनता का जीता दिल

    अनुपमा जायसवाल शामली जिले की प्रभारी मंत्री भी हैं। इस पद पर रहते हुए वें अपने जरूरी कामों में से वक्त निकालकर शामली जनपद में भी पर्याप्त समय देती है। उनकी कार्यशैली से सरकारी तंत्र में हमेशा हड़कंप मचा रहता है, क्योंकि उन्हें जनता के हितकारी कार्यों में लापरवाही बिल्कुल भी पसंद नही है। जनपद में उत्पीड़न और जनता को हो रही परेशानियों पर भी हमेशा उनकी नजर बनी रहती है।

  • भ्रष्टाचार पर करती हैं तीखा वार

    मंत्री अनुपमा जायसवाल की राजनैतिक कार्यशैली जनता को आकर्षित करने वाली है। शिकायत उनके कानों तक पहुंचने पर ही सरकारी मशीनरी हरकत में आ जाती है। जो अधिकारी जनता की शिकायतों को सुनने में उदासीनता दिखाते हैं, वें मंत्री की कार्यशैली देखकर अपनी कार्यप्रणाली में सुधार कर लेते हैं। खासतौर पर भ्रष्टाचार के खिलाफ मंत्री अनुपमा जायसवाल की कार्यप्रणाली काबिले तारीफ है।

 

 

 

1 Comment
  1. Virendra Jaiswal says

    Mananiya mantri ji ki behtarin karyshaily ko
    Koti koti pranam

Leave A Reply

Your email address will not be published.