शामली में माहौल बिगाड़ने की कोशिश, प्रशासन अलर्ट, धारा 144 लागू

0 1,729

कांवड यात्रा शुरू होने के बाद कुछ असामाजिक तत्वों ने शुक्रवार को जिले का माहौल खराब करने की कोशिश की। इसके तहत एक पुरानी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर धार्मिक उन्माद फैलाने की साजिश रची गई, लेकिन ऐसी हरकतों के खिलाफ जिला प्रशासन अलर्ट हो गया। पुलिस द्वारा वीडियो के पुराना होने की पु​ष्टि करते हुए छानबीन शुरू कर दी गई। डीएम ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए कांवड यात्रा के मद्देनजर जनपद में धारा 144 लागू कर दी है।

क्या है पूरा मामला, कैसे रची गई साजिश..
शुक्रवार को जिले के विभिन्न व्हाट्सअप ग्रुपों पर साजिश के तहत एक पुरानी वीडियो वायरल की गई। वीडियो में कुछ लोग एक युवक को पीटते नजर आ रहें। वीडियो देखने से साफ झलक रहा है कि जरूर युवक द्वारा कोई गलती की गई थी, जिसके बाद लोगों ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया था। आरोपी युवक खुद को वीडियो में थानाभवन का रहने वाला बता रहा था। इससे यह भी पता चल रहा था कि यह वीडियो संभवत: सीमावर्ती जिलों में किसी स्थान पर बनाई गई थी। असामाजिक तत्वों ने साजिश के तहत इस वीडियो को एक साथ सोशल मीडिया ग्रुपों में वायरल करते हुए धार्मिक उन्माद पैदा करने की कोशिश की।हरकत में आए एसपी, छानबीन में पुरानी निकली वीडियो
वीडियो वायरल होने के बाद एसपी अजय कुमार फौरन हरकत में आते नजर आए। उनके द्वारा जांच कराई गई, तो यह वीडियो करीब सात—आठ महीने पुरानी निकली। यह भी पता चला कि यह वीडियो पूर्व में वायरल हो चुकी है, जिसकी पुष्टि थानाभवन थानाध्यक्ष द्वारा भी की गई। अब पुलिस ने पुरानी वीडियो को वायरल कर धार्मिक उन्माद फैलाने वाले लोगों की पड़ताल शुरू कर दी है।डीएम ने लगाई धारा 144
जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने बताया कि कांवड यात्रा और आगामी त्यौहारों के मद्देनजर जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि कांवड यात्रा, त्यौहारों और अन्य मुद्दों को लेकर कुछ असामाजिक, अवांछनीय एवं स्वार्थी तत्व धार्मिक उन्माद व अफवाहें फैलाकर जनसाधारण को गुमराह करके सार्वजनिक शांति भंग करने तथा साम्प्रदायिक सौहार्द के वातावरण को दूषित करने का प्रयास कर सकते हैं। डीएम ने बताया कि धारा 144 के प्रावधानों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को सख्ती से निपटने के निर्देश दिए गए हैं।कार्रवाई क्यों नही कर रहा साइबर सैल ?
जनपद पुलिस के साइबर सैल में तेज तर्रार अफसर कर्मवीर सिंह बतौर प्रभारी काम कर रहे हैं। उनकी सक्रियता की वजह से ही उन्हें थाना आदर्श मंडी की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है, लेकिन सोशल मीडिया के जरिए हो रही दंगा कराने की साजिशों के खिलाफ जनपद का साइबर सैल आज तक कोई बड़ी कार्रवाई नही कर पाया है, जिसके चलते धार्मिक उन्माद खड़ा करने वाले लोग सोशल मीडिया का जमकर दुरूपयोग कर रहे हैं।हिंद टुडे की प्रतिक्रिया
अभी कांवड यात्रा की शुरूआत ही हुई है, लेकिन असामाजिक लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए माहौल बिगाड़ने की कोशिशों में जुट गए हैं। अब सवाल यह उठता है कि यदि जनपद पुलिस के साइबर सैल का रवैया सोशल मीडिया पर सक्रिय असामाजिक तत्वों के प्रति उदासीन रहा, तो आने वाले 10—15 दिनों में ऐसे लोग कोई भी बड़ी साजिश रच सकते हैं। साइबर सैल को ऐसे लोगों की लिस्ट बनाकर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित कराने की जरूरत है।
— हिंद टुडे टीम

Leave A Reply

Your email address will not be published.