इस कथित हिंदू कार्यकर्ता ने बोले नफरत के बोल, देखें वीडियो

डूडा विभाग की वायरल वीडियों में हुआ चौकाने वाला खुलासा

0 127

योगी आदित्यनाथ के संगठन विहिम को बदनाम करने की साजिश

 

शामली जिले में डूडा विभाग के भ्रष्टाचार की एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। वीडियो बनाने वाला शख्श खुद को योगी आदित्यनाथ के संगठन विश्व हिंदू महासंघ का सदस्य बताते हुए हिंदू—मुस्लिम के बीच खाई पैदा करने वाली नफरत की बातें बोलता नजर आ रहा है। वह संगठन का रौब दिखाकर एक शख्श को छोड़कर अन्य लोगों से उगाही करने की बात भी कर रहा है। ऐसे शख्श को चिन्हित करते हुए उसके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जरूरत है।

क्या है पूरा मामला?
शहर के मोहल्ला मनिहारान गऊशाला रोड निवासी रोशनलाल शुक्रवार को साथियों के साथ कलेक्ट्रेट शामली पहुंचा था। उसने डीएम अखिलेश कुमार को शिकायती पत्र देकर बताया था कि उसने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवेदन किया था। इसके बाद उसका नाम पात्रों की सूची में आ गया था। शिकायतकर्ता ने बताया कि नीरज पुरी नाम का एक व्यक्ति जो खुद को डूडा का कर्मचारी बताता है, उससे मकान बनवाने के लिए पहले तीन हजार रूपए की रिश्वत ले चुका है। अब इसके बाद अब नीरज पुरी और खुद को डूडा के कर्मचारी बताने वाले सचिन शर्मा, कपिल और अन्नू भी अब उससे बार—बार 20 हजार रूपए की मांग कर रहे हैं। पीडित पक्ष द्वारा मामले से जुड़ी एक वीडियो भी वायरल की गई है, जिसे एक कथित हिंदूवादी कार्यकर्ता ने बताया है।तुम मुस्लिम होते, तो ठिकाने बैठा देता
वीडियो में एक शख्श की आवाज आ रही है, जो रिश्वत मांगने वाले कथित डूडा कर्मचारी से बात कर रहा है। बात करने वाला शख्श खुद को विश्व हिंदू महासंघ का सदस्य बता रहा है। वह रिश्वतखोरी के आरोपी से बात करते रौब गालिब करते हुए कह रहा है कि आप हिंदू हो, अगर आप मुस्लिम होते, तो ठिकाने बैठा देता। कथित हिंदू कार्यकर्ता द्वारा रिश्वतखोरी के आरोपी को दूसरे लोगों से उगाही करने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है।योगी के संगठन को बदनाम करने की साजिश
रिश्वतखोरी के आरोपी की वीडियो बनाना सही ठहराया जा सकता है, लेकिन वीडियो में खुद को विश्व हिंदू महासंघ का सदस्य बताने वाला व्यक्ति जहरीला जुबान भी बोलता नजर आ रहा है। वायरल वीडियों में उसके द्वारा कही गई बातें हिंदू—मुस्लिम भाईचारे के बीच खाई पैदा करने वाली प्रतीत हो रही हैं।

सोशल मीडिया पर आक्रोश, कार्रवाई की मांग
खुद को विश्व हिंदू महासंघ का सदस्य बताने वाले व्यक्ति द्वारा वायरल की गई वीडियो सोशल मीडिया पर आक्रोश पैदा कर रही है। आरोपित हिंदूवादी कार्यकर्ता के बोल समाज में भाईचारे को खत्म करने वाले हैं। अधिकारियों को योगी आदित्यनाथ के संगठन विश्व हिंदू महासंघ का नाम बदनाम करने वाले और जनता में भाईचारा खत्म करने की साजिश करने वाले शख्श के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने की जरूरत है, ताकि समाज में भाईचारे को ठेस ना पहुंचे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.